ज्येष्ठ अमावस्या के दिन शनि जयंती का पर्व मनाया जाता है। इस दिन जो भी शनिदेव के निमित्त व्रत रखता है तथा विधि-विधान से उनकी पूजा करता है। शनिदेव उसका कल्याण करते हैं तथा उसके सभी कष्ट दूर कर देते हैं। इस बार यह पर्व 1 जून, बुधवार को है। शनिदेव के निमित्त व्रत करने …

Continue reading

Advertisements

श्री सत्यनारायण पूजन प्रारंभ :—-

श्री सत्यनारायण पूजन प्रारंभ :---- श्री सत्यनारायण व्रत-पूजनकर्ता पूर्णिमा या संक्रांति के दिन स्नान करके कोरे अथवा धुले हुए शुद्ध वस्त्र पहनें, माथे पर तिलक लगाएँ और शुभ मुहूर्त में पूजन शुरू करें। इस हेतु शुभ आसन पर पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुँह करके सत्यनारायण भगवान का पूजन करें। इसके पश्चात्‌ सत्यनारायण व्रत …

Continue reading श्री सत्यनारायण पूजन प्रारंभ :—-

श्री सत्यनारायण की व्रत कथा—-

श्री सत्यनारायण की व्रत कथा---- भगवान श्री सत्यनारायण की व्रत कथा आस्थावान हिन्दू धर्मावलंबियों के लिए चिरपरिचित कथा है। संपूर्ण भारत में इस कथा के प्रेमी अनगिनत संख्या में हैं, जो इस कथा और व्रत का नियमित पालन व पारायण करते हैं। स्कन्द पुराण के रेवा खण्ड में इस कथा का उल्लेख किया गया है। …

Continue reading श्री सत्यनारायण की व्रत कथा—-

नजर उतारने के उपाय—

नजर उतारने के उपाय--- १॰ बच्चे ने दूध पीना या खाना छोड़ दिया हो, तो रोटी या दूध को बच्चे पर से ‘आठ’ बार उतार के कुत्ते या गाय को खिला दें। २॰ नमक, राई के दाने, पीली सरसों, मिर्च, पुरानी झाडू का एक टुकड़ा लेकर ‘नजर’ लगे व्यक्ति पर से ‘आठ’ बार उतार कर …

Continue reading नजर उतारने के उपाय—

दश-महा-विद्या-स्तोत्रम् —-

दश-महा-विद्या-स्तोत्रम्---- नमस्ते चण्डिके ! चण्डि ! चण्ड-मुण्ड-विनाशिनि । नमस्ते कालिके ! काल-महा-भय-विनाशिनी ! ।।१ शिवे ! रक्ष जगद्धात्रि ! प्रसीद हरि-वल्लभे ! प्रणमामि जगद्धात्रीं, जगत्-पालन-कारिणीम् ।।२ जगत्-क्षोभ-करीं विद्यां, जगत्-सृष्टि-विधायिनीम् । करालां विकटा घोरां, मुण्ड-माला-विभूषिताम् ।।३ हरार्चितां हराराध्यां, नमामि हर-वल्लभाम् । गौरीं गुरु-प्रियां गौर-वर्णालंकार-भूषिताम् ।।४ हरि-प्रियां महा-मायां, नमामि ब्रह्म-पूजिताम् । सिद्धां सिद्धेश्वरीं सिद्ध-विद्या-धर-गणैर्युताम् ।।५ मन्त्र-सिद्धि-प्रदां योनि-सिद्धिदां …

Continue reading दश-महा-विद्या-स्तोत्रम् —-

ग्रह, आर्थिक, विवाह-बाधा-निवारण प्रयोग–

ग्रह, आर्थिक, विवाह-बाधा-निवारण प्रयोग---- १॰ सिन्दूर लगे हनुमान जी की मूर्ति का सिन्दूर लेकर सीता जी के चरणों में लगाएँ। फिर माता सीता से एक श्वास में अपनी कामना निवेदित कर भक्ति-पूर्वक प्रणाम कर वापस आ जाएँ। इस प्रकार कुछ दिन करने पर सभी प्रकार की बाधाओं का निवारण होता है एवं कामना-पुर्ति होती है। …

Continue reading ग्रह, आर्थिक, विवाह-बाधा-निवारण प्रयोग–

आज ही नाथद्वारा सम्मलेन से आया हूँ…

नमस्कार मित्रो, में आज ही नाथद्वारा सम्मलेन से आया हूँ... मेरे फेसबुक और ऑरकुट फ्रेंड्स के साथ-साथ उन सभी विद्वानों एवं विदुषियों का आभार....धन्यवाद..शुक्रिया जो मेरे निवेदन / आग्रह पर इस सम्मलेन में मेरा इमेल/ एस.एम्.एस. फोन, पर प्राप्त कर इस आयोजन में शामिल हुए... यदि किसी के मान -सम्मान को ठेस लगी हो, व्यवस्था …

Continue reading आज ही नाथद्वारा सम्मलेन से आया हूँ…