इन उपायों द्वारा पाएं डरावने सपनों से मुक्ति/छुटकारा-

इन उपायों द्वारा पाएं डरावने सपनों से मुक्ति/छुटकारा— 

प्रिय पाठकों,लोग कई बार यह शिकायत करते  है कि वे रात में किसी डरवाने सपने के कारण अचानक से उठ जाते हैं। और यह समस्या केवल एक बार नहीं हर बार हो रहीे हो तो यह एक बड़ी परेशानी बन सकती है।स्वप्न के विभिन्न शुभ-अशुभ संकेत शास्त्रों में उल्लेखित हैं। इसमें कोई दो राय नहीं कि हमारे द्वारा देखा गया सपना यदि शुभ फल दे तो हमें खुशी होती है लेकिन वहीं दूसरी ओर यदि यह किसी अशुभ घटना का संकेत देता है तो हम पहले ही डर जाते हैं।स्वप्न ज्योतिष की माने तो सपने चार प्रकार के होते हैं- पहला दैविक, दूसरा शुभ, तीसरा अशुभ और चौथा मिश्रित। ये सभी भविष्य में होने वाली अच्छी-बुरी घटनाओं के बारे में हमें बताते हैं। कुछ सपने जल्दी सच हो जाते हैं तो कुछ देर से।

कई बार संकेत तो दूर, कुछ सपने हमें उसमें देखे गए दृश्यों से ही डरा देते हैं। हम इतना भयभीत होकर उठते हैं मानों हमारी जान जाने वाली हो। सपने में भूत, आत्मा, किसी की मौत, अपनी मौत या फिर कोई भयानक दृश्य हमें पसीने से भरी हुई हालत में नींद से उठाता है।

जानिए कुछ सपने हमें आने वाली मुसीबत के लिए पहले से चेतावनी देते है—

सपने में कई बार हम ऐसी घटना देखते है जो हमारे भूतकाल से जुड़ी हुई होती है, या फिर वो देखते है जो आने वाले भविष्य में होने वाला है।  कई बार हम अपने जीवन में जैसी सोच रखते है, जैसे माहोल में रहते है वैसा ही रात को सपना देखते है।  सपने हमेशा अधूरे नहीं रहते है, वे कई बार पुरे भी होते है, कभी सपने तुरंत पुरे होते है, तो कभी थोड़े समय बाद अपना असर देते है।  ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हर सपने का कोई न कोई मतलब और उनका अर्थ होता है।  सपने हमारे आने वाले भविष्य का आइना है, वो हमें आने वाली मुसीबत के लिए पहले से चेतावनी देते है।

तब हम इस चिंता में पड़ जाते हैं कि यदि यह सपना सच हो गया तो? यदि सपने में हमने जो कुछ भी देखा वह आने वाले दिनों में घटित हो गया तो? तब हम क्या करेंगे? लेकिन घबराइए नहीं, इसके भी उपाय शास्त्रों में मौजूद हैं।

—यदि स्वप्न अधिक भयानक और रात्रि 12 से 2 बजे देखा जए तो तुरंत श्री शिव का नाम स्मरण करें। शिव जी के बीज मंत्र “ॐ नमः शिवाय” का जप करते हुए सो जाएं। तत्पश्चात् ब्रह्ममुहूर्त में उठकर स्नानादि करके शिवमंदिर में जाकर जल चढ़ाएं पूजा करें व पुजारी को कुछ दान करें। इससे संकट नष्ट हो जाता है।

—-यदि स्वप्न 4 बजे के बाद देखा गया है और स्वप्न बुरा है, तो प्रातः उठकर बिना किसी से कुछ बोले तुलसी के पौधे से पूरा स्वप्न कह डालें। कोई दुष्परिणाम नहीं होगा। स्नान के बाद “ॐ नमः शिवाय” का एक माला, यानि कि कम से कम 108 बार जप करें।

—-ऐसा माना जाता है कि जब कभी किसी भी प्रकार का बुरा सपना देखा जाए, तो हनुमानजी को याद करें। वह ना केवल सपनों के माध्यम से होने वाले नुकसान को, बल्कि मनुष्य पर होने वाले हर प्रकार के बुरे प्रभावों को नष्ट करने में सक्षम हैं।

—-हनुमान जी सब प्रकार का अनिष्ट दूर करने वाले हैं। बुरे स्वप्न का अनिष्ट दूर करने के लिए सुंदरकांड, बजरंग बाण, संकटमोचन स्तोत्र अथवा हनुमान चालीसा का पाठ भी सांयकाल के समय किया जा सकता है।

—यदि स्वप्न बहुत बुरा है और आपके घर में तुलसी का पौधा नहीं है, तो सुबह उठकर सफेद काग़ज़ पर स्वप्न को लिखें फिर उसे जला दें। राख नाली में पानी डाल कर बहा दें। फिर स्नान करके एक माला शिव के मंत्र “ॐ नमः शिवाय” का जप करें। दुष्प्रभाव नष्ट हो जाएगा।

—स्वप्न ज्योतिष के अनुसार रात के पहले पहर में देखे गए सपने का फल एक साल के अंदर मिलता है। दूसरे पहर में देखे गए सपने का फल छ: महीने में मिलता है।

—तीसरे पहर में देखे गए सपने का फल तीन महीने में मिलता है और चौथे पहर यानी सुबह देखे गए सपने का फल तुरंत मिलता है।

—-यदि बुरा सपना देखकर यदि रात में ही किसी को बता दें तो उस सपने का फल नष्ट हो जाता है अथवा सुबह उठकर भगवान शंकर को नमस्कार कर उसके बाद तुलसी के पौधे को जल चढाएं तो भी उस बुरे सपने का फल नष्ट हो जाता है।

—रात को सोने से पहले भगवान विष्णु, शंकर, महर्षि अगस्त्य और कपिल मुनि का स्मरण करने से बुरे सपने नहीं आते।

===================================================

यह हैं उपाय डरावने सपने से मुक्ति/छुटकारा  पाने के–

सिरहाने में चाकू को रखें—

जिन लोगों को अक्सर रात में बुरे सपने आने की वजह से अचानक नींद टूटती हो तो वे रात में अपने सिरहाने के नीचे एक चाकू रखें। यदि आप चाकू नहीं रख सकते हो तो किसी भी तरह की नुकीली वस्तु आप जरूर रखें। जैसे कांटे वाली चम्मच, कैंची या फिर नेल कटर आदि।चाकू न होने पर कैंची, नेल-कटर, कांटा आदि भी तकिए के नीचे रख सकते हैं। जिससे रात को डर नहीं लगता।  

पीले रंग के चावल—

तकिये के नीचे पीले चावलों को एक कपड़े में बांधकर सिरहाने के नीचे रख दें। हल्दी में चावलों को मिलाकर आप पीले चावल बना सकते हैं। इससे बुरे सपने नहीं आते हैं।

बहुत फायदा करेगी छोटी इलायची—

रात में सोने से पहले आप अपने तकिये के नीचे पांच छोटी इलायची को किसी कपड़े में बांध लें और उसे अपने सिरहाने के नीचे रख दें। इससे रात को बुरे सपने और उनसे नींद टूटने की समस्या ठीक हो जाएगी।

तांबे के बर्तन में पानी—

नींद यदि रात के समय में बार बार टूट जाती हो या नींद के समय में डर लगता हो तो आप अपने बिस्तर के पास में एक पानी से भरा तांबे का बर्तन रख दें। और सुबह के समय में इस पानी को किसी गमले या पौधों के उपर डालें। इस उपाय से आपको फायदा मिलेगा।

इसके अलावा कुछ बातों का जरूर ध्यान रखें, जैसे–

——भूलकर भी अपने बिस्तर के नीचे कभी जूता या चप्पल ना रखें।पलंग के आस-पास अौर नीचे रखे जूते-चप्पल भी डर अौर बुरे सपनों का कारण बनता है।

—-चादर एकदम गहरे व गाढ़े रंग की ना हो।जिस चादर पर डार्क या हिंसक जानवरों का प्रिंट हो उसका प्रयोग नहीं करना चाहिए। फटी हुई चादर का भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

—रात को सोने से पहले अपने बिस्तर को जरूर साफ करें । पैरों को धो कर और साफ करके अपने बिस्तर पर जाएं।गंदे या अव्यवस्थित बिस्तरे पर सोने से भी डर अौर बुरे सपने आते हैं। इसलिए सोने से पूर्व बिस्तरा साफ करके सोएं। 

—-महिलाएं खास बात का ध्यान रखें  रात को बाल बांधकर सोना चाहिए। रात को बाल खुले रखकर सोने से भी बुरे सपने आते हैं। 

इन लिंक्स पर जाकर पढ़े स्वप्न और उनके फल—

—–http://inhindi.org/%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%B5%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%A8-%E0%A4%AB%E0%A4%B2-%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%B2-%E0%A4%95%E0%A4%BF%E0%A4%A4%E0%A4%BE%E0%A4%AC-%E0%A4%B8%E0%A4%AA%E0%A4%A8%E0%A5%8B%E0%A4%82/

—-http://inhindi.org/%E0%A4%B8%E0%A4%AA%E0%A4%A8%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%AE%E0%A4%A4%E0%A4%B2%E0%A4%AC-sapno-ka-matlab/

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s