क्या भारत पाकिस्तान में होगा युद्ध 2016 में.. ???

क्या भारत पाकिस्तान में होगा युद्ध 2016 में.. ???

भारत-पाक के बीच जारी तनाव को लेकर सब के मन में एक ही सवाल है- कल क्या होगा ? 

आइए, ज्योतिष की मदद से जानें इस सवाल का जवाब…

( यह भविष्यवाणी गूगल पर उपलब्ध आंकड़ों/कुंडली अनुसार गृह गोचर और चन्द्रमा की स्थित अनुसार की गयी हैं || ज्योतिषी इसकी सत्यता या प्रमाणिकता की पुष्टि करता हैं)

भारत और पाक के बीच इस समय हालात बेहद नाजुक बने हुए हैं। आतंकवादियों को भारत उनकी सही जगह भेज चुका है और इस बात से पाकिस्तान बेहद नाराज है। ऐसा हो भी क्यों ना क्योकि पाकिस्तान को आतंकवादियों के बड़े आकाओं को जवाब जो देना होता है। हर कोई जानता है कि इस समय युद्ध जैसे हालत भारत और पाकिस्तान के बीच बने हुए हैं। जहाँ एक तरफ इस समय राजनैतिक गलियारों में गर्मी है तो वहीं दूसरी तरफ भारत के ग्रहों में भी गर्मी बनी हुई है।

जम्मू कश्मीर के उरी जिले में जो भारत की सैनिक छावनी पर जो आतंकी हमला हुआ था उसने पुरे भारत देश को झकझोर के रख दिया है. पिछले ढाई दशक से पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद से त्रस्त जम्मू-कश्मीर राज्य में यह सेना पर अब तक का सबसे बड़ा आतंकी हमला माना जा रहा है.

वर्तमान में स्थिति को ध्यान में रखकर ग्रहों और ज्योतिष अनुसार जो स्थिति/ भविष्यवाणी सामने आई है वह हैरान करने वाली हैं ||

हमारे देश भारत जो 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ,की कुंडली पर नजर डालें तो आने वाले दिनों में परिस्थितियां और अधिक विकट होती दिख रही हैं | वृषभ लग्न की कुंडली में चंद्रमा में मंगल की विंशोत्तरी दशा 9 जुलाई 2016 से 7 फरवरी 2017 तक है| चंद्रमा भारत की कुंडली में तीसरे भाव का स्वामी होकर पड़ोसियों से सीमा पर संघर्ष की स्थिति को दर्शाता है| मंगल भारत की कुंडली में सप्तम भाव यानी युद्ध स्थान तथा हानि स्थान यानी बाहरवें घर का स्वामी होकर मारक स्थान में बैठा हुआ है. जबकि गोचर में शनि वृश्चिक राशि में स्थित होकर भारत की कुंडली में सप्तम भाव को प्रभावित कर रहे हैं|

स्वतंत्र भारत की जन्मकुंडली में कर्क राशि होकर मूलभाव से सटाष्टक योग बना रहा है।

 

पाकिस्तान के कुटिल सैन्य तंत्र के कारण आतंकवादी तत्व महाविनाशकारी परमाणु अस्त्रों को प्राप्त कर सकते हैं, जिससे भारत के गुजरात प्रांत में अहमदाबाद एवं राजकोट क्षेत्र विशेष प्रभावित होंगे। पाकिस्तान आयोजित आतंकवादी आक्रमण के कारण भारत-पाक संबंधों में तनाव चरम सीमा पर होगा। भारत-पाकिस्तान व्यापार संधि खटाई में पड़ सकती है। पाक का नापाक गणित: 2017 में हो सकता है इसका परिणाम भारत-पाक युद्ध में पाक को चीन का पूर्ण सहयोग होगा। चीन की बढ़ती ताकत के मद्देनजर पाकिस्तान में भारत-चीन संबंध को अलग नजरिए से देखा जाने लगेगा। इसमें 2017 तक भारत- पाक युद्ध की आशंका है किन्तु बाद में अंतरराष्ट्रीय दबाव के चलते चीन पीछे हटेगा और पाकिस्तान खत्म हो सकता है।

इस समय मोदी सरकार की ज्योतिषीय कुंडली में चंद्रमा की क्रूर नक्षत्र में स्थिति पाकिस्तान या चीन के साथ करा सकती है युद्ध. जिस मुहूर्त में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शपथ व सरकार का गठन किया था, उस समय चन्द्रमा भरणी नक्षत्र में गोचर कर रहा था| भरणी नक्षत्र उग्र स्वभाव वाला नक्षत्र है| यह अजीब संयोग है कि 16 मई 1996 को भाजपा की अटल बिहारी वाजपेयी ने शपथ ली थी उस समय भी चन्द्रमा भरणी नक्षत्र में गोचर कर रहा था |उस समय वाजपेयी सरकार 13 दिन में लड़खड़ाके गिर गई |

चंद्रमा के भरणी नक्षत्र में रविवार के दिन ही 21 फरवरी 1999 को वाजपेयी व नवाज की लाहौर घोषणा के कुछ महीने में भारत -पाक में कारगिल युद्ध हुआ. मोदी सरकार के शपथ के बाद चतुर्दशी रिक्ता तिथि व मंगलवार के दिन नवाज व मोदी के बीच हुई वार्ता के समय चंद्रमा भरणी नक्षत्र में गोचरस्थ था|  परिणाम में पाक की तरफ से लगातार गोलाबारी होती रही| 5,दिसम्बर 2014 को कश्मीर घाटी में मोदी जी की २ चुनावी रैलीयों के पास आतंकी हमला हुआ. दो अन्य जगह भी पाक प्रशिक्षित आतंकियों ने भी हमला किया, जिसमें से एक उरी स्थित आर्मी कैम्प भी था उस समय  मोदी जी बस ट्विट पर निंदा कर गए |

प्रधानमंत्री श्री मोदी के शपथ ग्रहण की तुला लग्न की कुंडली के अनुसार वर्तमान में शुक्र की महादशा में सूर्य का अंतर चल रहा है. लग्नेश व महादशानाथ शुक्र लग्न पर गोचर कर रहे है. कुंडली के लग्न पर राहू जैसा पाप ग्रह कमजोर गृह मंत्रालय की स्थिति दिखा रहा है | प्रजा की प्रतिनिधि ग्रह चंद्रमा की स्थिति भी केतु के पाप प्रभाव में लग्नेश शुक के साथ सप्तम भाव में हो रही है| 

लग्न यानी सरकार व चंद्रमा यानी प्रजा दोनों ही आतंकी व महंगाई की मार से झुलस रहे हैं| एकादशेश सूर्य अष्टम भाव में अशुभ स्थिति में है| सूर्य की इस अंतर दशा में छुटपुट अथवा बड़े हमले में देश को एक विशेष क्षति दर्शा रहा है. कुंडली में चतुर्थ व पंचम भावेश शनि वक्री होकर लग्न में होकर एक विशेष राज योग बना रहे है, जो शत्रु आक्रमण का भरपूर जवाब देने के लिए सक्षम है परन्तु गोचर में प्रत्यंतर दशानाथ शनि वृश्चिक राशिस्थ होकर अंतर दशा नाथ सूर्य को पीड़ित कर रहे है |

कुंडली में द्वितीय भावेश होकर मंगल व्यय स्थान में है इसका अर्थ है कि सरकार की विभिन्न परियोजानाओं व सातवें भाव के कारण रक्षा बजट में सरकारी खजाने से भारी राशि का व्यय होगा| भारत पडौसी राज्य के किसी भी आक्रमण से निपटने में सक्षम है. तृतीयेश व षष्ठेश गुरु पडौसी राज्यों के साथ युद्ध व सीमा विवाद को कूटनीति से निपटाने में सफल रहेगा| गुरु की शुभ दृष्टि कन्या राशि से छठे भाव पर है जो छठे का स्वामी भी है. इसलिए वर्तमान में तो भारत को कोई बहुत बड़ा खतरा नहीं है. परन्तु अगले साल 2017 सितम्बर के माह में शुक्र -चन्द्र -शनि में पाकिस्तान या चीन के कब्जे वाले हिस्से से भारत की सुरक्षा पर आंच आने की संभावना है|

पंडित दयानन्द शास्त्री के अनुसार ग्रहों की स्थिति के अनुसार मार्च 2018 तक भारत हर प्रकार के आक्रमण में विजय रहेगा. मोदी की शपथ की नवांश कुंडली के छठे व बारहवें भाव में राहू-केतु, वक्री शनि व मंगल का दुष्प्रभाव है| जिससे विदेश से समर्थन में कुछ मतभेद हो सकते है| 2018 में देश की आंतरिक व बाह्य सुरक्षा पर विशेष मंथन होगा| विरोधी दलों सत्ता पक्ष पर हावी होंगे| शपथ ग्रहण के समय मोदी जी कुंडली के छठे भाव में चंदमा की स्थिति राहू केतु और वक्री शनि का प्रभाव सरकार के पूरे कार्यकाल की सुरक्षा पर प्रश्न चिन्ह लगा रहा है| इस अवधि में भारत में दंगें-फसाद भी संभावित हैं |

वैसे पंडित दयानन्द शास्त्री के ज्योतिषीय आंकलन के अनुसार भीषण युद्ध के आसार इस वर्ष 10 अक्टूबर से 18 नवम्बर 2016 के बीच भारत पाकिस्तान के साथ भीषण युद्ध हो सकता हैं । 20 सितम्बर से 3 अक्टूबर 2016 के मध्य आतंकवादियों के साथ हमारी सेना की मुठभेड जारी रहेगी। 20 सितम्बर से 3 अक्टूबर 2016 के मध्य भारत पाकिस्तान पर शनि के सूक्ष्म अंतर में कर सकता है। पंडित दयानन्द शास्त्री के अनुसार 3 अक्टूबर से 15 अक्टूबर के मध्य भारत बडा हमला करेगा और सम्भव है पाकिस्तान को बडा भारी नुकसान हो। 

कुल मिलाकर देखा जाये तो 18 नवम्बर 2016 तक भारत निर्णायक भूमिका में युद्ध का सामना करेगा। देश की प्रजा एकजुट होकर विश्व को अपनी ताकत का परिचय देगी। 14 अक्टूबर 2016 से 15 नवम्बर तक भारत अपनी ऐसी ताकत दिखा देगा जिसके कारण विश्व मध्यस्थता करने के लिए अग्रसर होगा।  भारत पर आतंकवादी हमले कुछ अक्टूबर तक होते रहेंगे। खासकर 3 अक्तूबर तक का समय ऐसा है जब भारत पर कुछ छोटे -बड़े आतंकवादी हमले हो सकते हैं। 

यदि यह भविष्यवाणी सही सिद्ध हुई तो उसके अनुसार 14 अक्टूबर से 15 नवम्बर के बीच भारत इस तरह से अपनी ताकत का परिचम लहराएगा कि तब दूसरे कई देशों को सामने आकर भारत को शांत करेंगे। इसका अर्थ यही है कि भारत 15 नवम्बर तक इस तरह की लड़ाई लड़ेगा कि इस्लामाबाद में भी भारत का झन्डा लहराता हुआ, नजर आये। अगले वर्ष 26जनवरी -2017 को शनि धनु में प्रवेश करेगा, और ग्रहों की यह गति पाकिस्तान की नवाज़ शरीफ सरकार और पाकिस्तान के लिए एक अत्यंत कठिन और संघर्षपूर्ण समय की शुरुआत होगी

==========================================================================

जानिए भारत की कुंडली—

हमारे देश भारत की जन्म कुंडली के अनुसार 15.08.1947 को चंद्रमा पुष्य नक्षत्र में था जिसके स्वामी शनि हैं।

अगर भारत की कुंडली पर चर्चा करे तो भारत की कुंडली उसके स्वत्रंत्रता दिवस से बनाई जाती है | 

कुंडली विवरण – तिथि १५ अगस्त १९४७, 

समय रात्रि ००:००, 

स्थान दिल्ली | 

इससे वृषभ लग्न तथा कर्क राशि की कुंडली बनती है | 

बहुआयामी प्रतिभा के धनी, विचारक, भविष्य दृष्टा, युगपुरुष और सहज, विनम्र इंसान पद्मभूषण पंडित सूर्यनारायण व्यास ने भारत की कुंडली बनायीं थी |1947 जब ये सुनिश्चित हो गया था कि अंग्रेज भारत छोड़ने को तैयार हैं तो डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने गोस्वामी गणेशदत्त महाराज के माध्यम से आपको बुलवाया। आपने पंचांग देखकर भारत की कुंडली बनाई और बताया कि आजादी के लिए मात्र दो दिन ही शुभ हैं 14 और 15 अगस्त। स्वतंत्रता के लिए मध्यरात्रि 12 बजे यानी तबके स्थिर लग्न का समय सुझाया। उनका मानना था कि इससे लोकतंत्र स्थिर रहेगा। इतना ही नहीं, पं. व्यास के कहने पर स्वतंत्रता के बाद देर रात संसद को धोया गया। बाद में बताए मुहूर्त अनुसार गोस्वामी गिरधारीलाल ने संसद की शुद्धि भी करवाई। उसी समय आपने ये संकेत दे दिए थे कि 1990 के बाद ही देश की प्रगति होगी और 2020 तक भारत विश्व का सिरमौर बन जाएगा। यह सब सच होता दिख भी रहा है।

यदि शास्त्रानुसार वृषभ लग्न की प्रकृति पर चर्चा करे तो हम पाते है की वृषभ लग्न का स्वाभाव बड़ा ही शर्मिला, शांति प्रिय, तमाम प्रकार के कष्ट सहने वाला, समझोता करने वाला, दबाव झेल कर भी कुछ ना बोलने वाला, मेहनती व संघर्षरत, पड़ोसियों द्वारा प्रताड़ित, सहज ही मित्र बनाने वाला, किसी के भी विश्वास में आ जाने वाला, भोले स्वाभाव वाला, शोषित व चुप रह कर समाज को ढोने वाला होता है, और यही सब गुण भारत की प्रक्रति व स्वाभाव को दर्शाते है | इसी प्रकार शास्त्रानुसार कर्क राशी की प्रकृति पर चर्चा करे तो हम पाते है की यह एक कुटिल व सफल राजनितिक, बात का धनि , चतुर स्वाभाव वाला होता है | 

भारत को आजादी शनि की महादशा में प्राप्त हुई थी। वर्तमान समय में सूर्य की महादशा में शनि की अंतर्दशा 25.06.2013 तक रहेगी। यह समय भारत तथा अन्य देशों के लिए उथल-पुथल का रहेगा। शनि की महादशा भारत के लिए शुभ फलदायी रही। शनि की महादशा में 1947 से 1965 तक भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध में दोनों बार भारत को सफलता प्राप्त हुई। उस समय भारत के प्रधानमंत्री श्री जवाहर लाल नेहरु तथा श्री लाल बहादुर शास्त्री थे। भारत देश की कुंडली का वृष लग्न है और योगकारक ग्रह शनि नवम्, दशम का स्वामी होकर तृतीय (पराक्रम भाव) में विराजमान है। 1962 फरवरी में चीन देश ने भारत पर आक्रमण किया तथा उसमें भारत की पराजय हुई। उस समय शनि की महादशा में राहु की अंतर्दशा चल रही थी। भारत की कुंडली में राहु लग्न तथा केतु सप्तम भाव में कालसर्प दोष से ग्रसित होकर बैठे हुए हैं। युद्ध के समय गोचर की स्थिति के अनुसार 04.02.1962 तक मकर राशि में आठ ग्रह राशि से सप्तम भाव में बैठकर जन्म राशि को पूर्ण दृष्टि से देख रहे थे।

मंगल का स्थान भारत की कुंडली में दूसरे भाव में है,और यह दूसरा भाव दिशाओं से भारत की उत्तरी-पश्चिमी दिशा को इंगित करता है। जिसके अन्दर काश्मीर आदि स्थान माने जाते है। मंगल का रूप हिंसक तभी माना जाता है जब यह अपने बद रूप में हो,यह बुध के भावों में बुध के साथ शनि के भावों में और शनि के साथ तथा राहु केतु की युति में और एक दूसरे के लिये सहयोगी युति के लिये अपना बद रूप लेकर उपस्थित होता है,बद मंगल के लिये लालकिताब का नियम बताता है कि यह भूत प्रेत और पिशाचात्मक शक्तियों से ग्रसित होता है। 

भारत की कुंडली वृष लगन की है और मंगल का स्थान मिथुन राशि का है,यह बुध की राशि है और मंगल के लिये बद का रूप प्रस्तुत करती है। लेकिन इस मंगल का प्रभाव तकनीक के लिये भी माना जा सकता है,मिथुन राशि से बोलने चालने पहिनने और अपने को प्रदर्शित करने के लिये भी माना जाता है,जब मंगल की युति इस राशि से मिल जाती है तो यह बोलने चालने अपने को प्रदर्शित करने के लिये हिंसक रूप में सामने आता है बोलने के अन्दर खरा स्वभाव और उत्तेजना को देने वाला माना जाता है,यह अपने रूप के अनुसार बद होने के कारण खूनी खेल और खून से सने हुये रूप में प्रदर्शित करने की मान्यता रखता है। चेहरे को कुरूप बनाने के लिये लाल कपडा पहिनने के लिये और हरी भरी धरती पर खूनी रंग फ़ैलाने के लिये भी अपनी मान्यता रखता है। 

मिथुन राशि का स्वामी बुध है,बुध की कारक बकरी को भी हिंसक रूप से देखता है,जो बकरी जैसे रूप को हिंसक देखता हो उसे भेडिया की उपाधि भी देना सही माना जा सकता है,यह अपनी द्रिष्टि के अनुसार पहले चौथे सातवें और आठवें भाव पर प्रभाव डालता है,लेकिन अन्दरूनी रूप में पंचम नवम भाव से भी अपना सम्बन्ध रखता है,इस मंगल के बारे में एक उक्ति बहुत ही मशहूर है कि यह कभी बीच का नही होता है,-“या तो सरासर सांग होजा या तो सरासर मोम हो जा”,सांग एक पत्थर होता है जो केवल टूटने में ही विश्वास रखता है,मोम तो सभी को पता होता है कि जब पिघलता है तो पानी की तरफ़ बहने लगता है,लेकिन मिथुन राशि में होने के कारण इसे दोहरे रूप में देखा जा सकता है,लेकिन दोहरे स्वभाव के प्रति आशा नही की जा सकती है,मिथुन राशि बुध की राशि है और कमन्यूकेशन के प्रति अपना स्वभाव रखती है,मंगल के साथ हो जाने से यह कमन्यूकेशन के अन्दर तकनीक के लिये भी अपनी मान्यता को रखता है,बनाये जाने वाले कपडे और साजो सामान की तकनीक भी यह मंगल मिथुन राशि को देता है।

भारत की कुंडली वृष लग्न और कर्क राशि की है|

-भारत की कुंडली में शनि सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण ग्रह है|

-ये भारत को मजबूती और शक्ति दोनों देता है|

-परंतु भारत की कुंडली में मंगल बार-बार समस्याएं पैदा करता है|

-ये युद्ध की स्थितियां बनाता है और अस्थिरता लाता है|

-स्थिर लग्न होने की वजह से भारत हर समस्या से बच जाता है|

यह हैं पाकिस्तान की कुंडली—-

पाकिस्तान का निर्माण दिनांक 14-08-1947 समय सुबह 9:30 बजे कराची में हुआ था जिसमें भाग्य स्थान से पूर्ण कालसर्प योग भी है। इस आधार पर पाकिस्तान की कुंडली कन्या लगन तथा मिथुन राशी की बनती है, लगन कुंडली के अनुसार नौवें घर में बैठा हुआ राहु पाकिस्तान की मानवता विरोधी ताकत तथा हिंसात्मक रवैये को दर्शाता है। साढे़साती का प्रभाव शुरू हो गया है। वह परमाणु हमला कर सकता है। – भारत व पाकिस्तान के मध्य युद्ध होगा। भारत को अन्य देशों का समर्थन मिलेगा। उसके प्रभाव में कमी नहीं आएगी। पाकिस्तान संपूर्ण विश्व की दृष्टि में गिर जाएगा। – भारत की जनता में असंतोष बढे़गा। आर्थिक रूप से भारत कमजोर होगा। – भारत में और भी आतंकी हमले होंगे।

 

दूसरी तरफ दसवें घर में अष्टमेश मंगल का एकादशेश चंद्रमा के साथ युति पाक सरकार की शान्ति विरोधी नीति व भारत के प्रति प्रतिशोध तथा कानून व्यवस्था को प्रकट करता है, लग्नेश बुध का सूर्य और शुक्र के साथ एकादश भावः में युति बनाना मानव विरोधी ताकत के प्रति शक्ति का प्रयोग तथा उसमे अन्य राष्ट्रों का सहयोग भी दर्शाता है। इसलिए ज्योतिष आधार पर कुंडली विवेचन से यह बात स्पष्ट हो जाती है कि पाकिस्तान मानव विरोधी जिन ताकतों का भारत के साथ प्रयोग करता आ रहा है उसमे उसे पड़ोसी देशों से लाभ हो सकता है। 

पाकिस्तान की कुंडली में चौथे घर में सूर्य, शनि, शुक्र, बुध व चंद्रमा 5 ग्रहों का जमावड़ा होने के कारण पाकिस्तान न खुद शांत रहेगा और न ही पड़ोसी को शांत रहने देगा। पाक कुंडली में कुलीक नामक कालसर्प योग अधिक पीड़ादायक होने से उसे जीवन भर संघर्ष, धन की हानि होगी तथा वह भारत के लिए सिरदर्द बना रहेगा। चीन की कुंडली में मकर लग्र तथा सप्तम स्थान में नीच का मंगल होने के कारण अपनी षड्यंत्रकारी कुचालों से भारत को नुक्सान व आक्रमण की तैयारी में लगा रहेगा तथा अंत में निर्णायक जंग करके ही दम लेगा। 

भारत और पाक की प्रचलित नाम राशि क्रमश: धनु और कन्या है। धनु-कन्या राशि के स्वामी क्रमश: देव गुरू-बृहस्पति और असुर-कुमार बुध हैं। वहीं बुध और बृहस्पति में परस्पर शत्रुता बना रहता है। देवगुरू बृहस्पति क्षमावान, ज्ञानवान, अहिंसावादी और सात्विक ग्रह है, जबकि इसके विपरीत बुध बेहद चालक-अवसरवादी-बेईमान एवं समयानुसार बदलाव की प्रकृति के मालिक हैं |

– पाकिस्तान का लग्न और राशि दोनों मिथुन है|

– ये दुविधा और अस्थिरता का संयोग है|

– इसके कारण पाकिस्तान में विभाजन होते जा रहे हैं|

– मंगल भी मिथुन राशि में  बैठकर पाकिस्तान के लिए समस्या पैदा कर रहा है|

– पाकिस्तान की समस्या उसके देश के विभाजन और आंतरिक समस्या है|

==============================================================

—वर्तमान में भारत-पाक के रिश्तों की स्थिति –

– मंगल अग्नि की राशि में है|

– राहु भी शनि के समर्थन से अग्नि राशि में विद्यमान है|

– इन स्थितियों को युद्ध और आतंक की स्थिति कहा जाएगा|

– अभी शनि वृश्चिक राशि में है|

– यहां से षड़यंत्र, युद्ध और तनाव जैसी स्थितियां बनी रहेंगी और बार-बार युद्ध होने जैसा भ्रम पैदा होगा|

– कुल मिलाकर जनवरी तक स्थितियां अच्छी नहीं हैं, इसके बाद ही सुधार होने की संभावना बनती है|

— बृहस्पति के प्रभाव से भारत का लग्न मजबूत है|

– इसलिए भारत सुरक्षित स्थिति में है|

– मंगल शुरुआत में थोड़ी समस्याएं दे सकता है|

– लेकिन शनि के कारण भारत युद्ध में सफलता पाएगा|

– छद्म युद्ध जैसी स्थितियां बनेंगी जिसमें भारत सफल रहेगा|

– कुल मिलाकर सीधे युद्ध की प्रबल संभावना दिखाई देती हैं |

युद्ध होने पर पाक के हो जाएंगे टुकड़े-टुकड़े—

ज्योतिष की दृष्टि से यदि युद्ध की पहल पाकिस्तान करेगा और इस जंग में भारत की कुंडली में शत्रु स्थान पर देवगुरु बृहस्पति बैठे हैं, जिसके कारण संसार के अंदर शत्रु पक्ष में भारत का मान, गौरव, दबदबा व बड़प्पन ऊंचा रहेगा। वर्तमान में भारत की कुंडली में कर्क राशि का चंद्रमा तीसरे भाव में होने के कारण तथा चंद्रमा की महादशा होने के कारण भारत का समय अच्छा चल रहा है। यह समय पाकिस्तान का पोस्टमार्टम करने के लिए उचित है। युद्ध होने पर पाकिस्तान के टुकड़े-टुकड़े हो जाएंगे। भारतवर्ष के लिए मूलांक  वाले वर्ष शुभ है। इस समय जीत का डंका निश्चित रूप से बजेगा, जिसका उदाहरण वर्ष 1962, 1971 और अब 2016 हैं। इन सभी का मूलांक  बनता है। 

===इति शुभम भवतु..!!!!  

पंडित “विशाल” दयानन्द शास्त्री।। 

मोबाईल–09669290067 … 

वाट्स आप–09039390067 … 

इन्द्रा नगर, उज्जैन (मध्य प्रदेश)

 

Advertisements

2 thoughts on “क्या भारत पाकिस्तान में होगा युद्ध 2016 में.. ???

    1. आपके प्रश्न का समय मिलने पर में स्वयं उत्तेर देने का प्रयास करूँगा…
      यह सुविधा सशुल्क हें…
      आप चाहे तो मुझसे फेसबुक./ऑरकुट पर भी संपर्क/ बातचीत कर सकते हे..

      —-पंडित “विशाल” दयानन्द शास्त्री मेरा कोंटेक्ट नंबर हे
      —- MOB.—-
      —-0091-09669290067(MADHYAPRADESH),
      —–0091-09039390067(MADHYAPRADESH),
      —————————————————
      मेरा ईमेल एड्रेस हे..—-
      vastushastri08@gmail.com,
      –vastushastri08@hotmail.com;
      —————————————————
      Consultation Fee—
      सलाह/परामर्श शुल्क—

      For Kundali-2100/- for 1 Person……..
      For Kundali-5100/- for a Family…..
      For Vastu 11000/-(1000 squre feet) + extra-travling,boarding/food..etc…
      For Palm Reading/ Hastrekha–2500/-
      ——————————————
      (A )MY BANK a/c. No. FOR- PUNJAB NATIONAL BANK- 4190000100154180 OF JHALRAPATAN (RA.). BRANCH IFSC CODE—PUNB0419000;;; MIRC CODE—325024002
      ======================================
      (B )MY BANK a/c. No. FOR- BANK OF BARODA- a/c. NO. IS- 29960100003683 OF JHALRAPATAN (RA.). BRANCH IFSC CODE—BARBOJHALRA;;; MIRC CODE—326012101
      ————————————————————-
      Pt. DAYANAND SHASTRI, LIG- 2/217,
      INDRA NAGAR ( NEAR TEMPO STAND),
      AGAR ROAD, UJJAIN –M.P.–456006 –
      —- MOB.—-
      —-0091-09669290067(MADHYAPRADESH),
      —–0091-09039390067(MADHYAPRADESH),

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s