सावधान..!!! भूलकर भी ना करें प्रयोग,दूसरों की इन वस्तुओं को वरना…

सावधान..!!! भूलकर भी ना करें प्रयोग,दूसरों की इन वस्तुओं को वरना…

दूसरों की इन चीजों को उधार मांगने से खाली रहती है जेब….

प्रिय पाठकों/मित्रों, प्रथवी पर मौजूद प्रत्येक व्यक्ति में नकारात्मक-सकारात्मक उर्जा होती है। जिसका प्रभाव न केवल उसके चारों ओर बल्कि उन चीजों के व्यावहारिक प्रयोग पर भी पड़ता है, जो वो रोजमर्रा के जीवन में उपयोग करते हैं। कुछ वस्तुएं ऐसे होती हैं जो दूसरों से उधार मांगने से व्यक्ति की जेब में कभी धन नहीं भरता और उसका भाग्य कभी उसका साथ नहीं देता।

जानिए कोनसी हैं वे वस्तुए/चीजें–

पेन: अक्सर लोग एक-दूसरे से पेन मांग कर अपना काम करते हैं और फिर वापिस देना भूल जाते हैं। ऐसा करना तिरस्कार और धनहानि का कारण बनता है। कभी भी किसी का पेन न रखें।

बिस्तर: वास्तुशास्त्र के अनुसार कभी भी किसी का बिस्तर इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इससे वास्तुदोष बढ़ता है। जो व्यक्ति किसी अन्य का बिस्तर पर सोता है उसे धन संबंधी समस्याओं से रूबरू होना पड़ता है।

घड़ी: कलाई पर दूसरे की घड़ी पहनने से व्यक्ति तरक्की नहीं कर पाता और जितनी भी मेहनत कर ले आर्थिक रूप से संपन्न नहीं हो पाता।

पोशाक: किसी दूसरे की पोशाक को पहनना समस्याओं को निमंत्रण देना है। कभी भी किसी के कपड़े न पहने, इससे दूसरे की नकारात्मकता आपके शरीर में घर कर जाती है।

संपत्ति: किसी की संपत्ति का उपयोग करना या उस पर नजर डालना धन संबंधित समस्याओं को बढ़ावा देता है। जीवन में सुख-शांति चाहते हैं तो कभी किसी से उधार नहीं लें। जरूरत पड़ने पर किसी से उधार लेना पड़ जाए तो अवश्य उसे लौटा दें।

रूमालः किसी के रूमाल का उपयोग करने से उन दो लोगों के संबंधों में दरार आ जाती है। दूसरे का रूमाल रख लेने से आर्थिक हानि का सामना करना पड़ता है।

Advertisements

One thought on “सावधान..!!! भूलकर भी ना करें प्रयोग,दूसरों की इन वस्तुओं को वरना…

  1. Nar Bahadur Saund

    धन्यवाद ।

    2016-08-13 11:32 GMT+05:45 “विनायक वास्तु टाईम्स” :

    > vastushastri08 posted: “सावधान..!!! भूलकर भी ना करें प्रयोग,दूसरों की इन
    > वस्तुओं को वरना… दूसरों की इन चीजों को उधार मांगने से खाली रहती है
    > जेब…. प्रिय पाठकों/मित्रों, प्रथवी पर मौजूद प्रत्येक व्यक्ति में
    > नकारात्मक-सकारात्मक उर्जा होती है। जिसका प्रभाव न केवल उसके चारों ओर”
    >

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s