विभिन्न वैदिक मन्त्रों का संग्रह —-

विभिन्न वैदिक मन्त्रों का संग्रह —-
ॐ भूर्भुव स्वः तत् सवितुर्वरेण्यं ।
भर्गो देवस्य धीमहि, धियो यो नः प्रचोदयात् ॥
ॐ सिद्धि बुद्धि सहिताय श्रीमन्महागणाधिपतये नमः !
ॐ शान्ताकारं भुजगशयनम पद्मनाभं सुरेशं विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्णं शुभांगम लक्ष्मीकान्तं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यं वन्दे विष्णु भवभयहरं सर्वलोकैकनाथं !
ॐ श्री रामाय नमः, कृष्णाय नमः, विष्णवे नमः, नारायणाय नमः !
ॐ सीतारामाभ्यां नमः !
ॐ श्री लक्ष्मीनारायणाभ्यां नमः !
ॐ श्री ब्रम्हाय नम: !
ॐ विश्वानि देव सवितुर दुर्रितानि परासुव, यद्भद्रम तन्न आसुव !
ॐ वायुपुत्र नमस्तुभ्यं पुष्पं सौवर्णकं प्रियम् |
पूजयिष्यामि ते मूर्ध्नि नवरत्न – समुज्जलम् ||
ॐ श्री संकट मोचकाय नमः !
राम हृदय आगार मेँ, माँ सीता के साथ ! बजरंगी रक्खो जरा मेरे सिर पर हाथ !
जय वीर हनुमान||
वो थी संकट की घड़ी, त्रेता युग के बीच ! अब भी हम पर आ पड़ी, दृष्टि किसी की नीच !! बजरंगी आओजरा, हमको है दरकार ! सिया राम मय जगत है, तुम हो तारनहार !!
ॐ सूर्याय नमः , ॐ भाष्कराय नमः , ॐ आदित्याय नमः ! ॐ सों सोमाय नमः ! ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः ! ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः ! ॐ प्रां प्रीं प्रों स: शनये नमः !
ॐ श्री नीलकंठाय नमः !
ॐ कर्पूरगौरं करुणावतारं संसारसारं भुजगेन्द्रहारम् ।
सदा बसन्तं हृदयारबिन्दे भबं भवानीसहितं नमामि ॥
ॐ नमः शिवाय ! ॐ श्री महाकालाय नमः !
ॐ नमो भगवते रुद्राय …
“ॐ हौं जूं स:, ॐ भूर्भुव स्व: ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगंधिम पुष्टि वर्धनम
उर्वारुक मिव बन्धनान, मृत्योर्मुक्षीय मामृतात स्व: भुव भू ॐ, स: जूँ हौं ॐ ”
!!ॐ..शिव ॐ.!!
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नमः !
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ह्रीं श्रीं महागायत्रियै नमः !
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ह्रीं श्रीं महासरस्व्त्यै नमः !
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ह्रीं श्रीं महादुर्गायै नमः !
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ह्रीं श्रीं महाकाल्यै नमः !
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ह्रीं श्रीं महाभगवत्यै नमः !
ॐ जै माँ चिन्तपूर्णी !
ॐ श्री बगुलामुखी देव्यै नम: !
ॐ श्री छिन्नमस्ता देव्यै नम: !
ॐ श्री सप्तश्रिंगी देव्यै नमः !
ॐ श्री नैना देव्यै नमः !
ॐ श्री मैहर देव्यै नमः !
ॐ श्री पद्मावती देव्यै नम: !
ॐ श्री विंध्यवासिनी देव्यै नम: !
ॐ श्री त्रिपुरसुंदरी देव्यै नम: !
ॐ श्री ललिता देव्यै नम: !
ॐ श्री संतोसी माता देव्यै नम: !
साईं तेरे नाम से, चमक रहा संसार ! दे झोली भर सबको सदा, खुशियों का अम्बार !!
हंसवाहिनी मेरी माँ ! गलती मेरी करो क्षमा !!
सिंहवाहिनी मेरी माँ ! कमलासन पर मेरी माँ ! वीणा वादिनी मेरी माँ ! मुंड मालिनी मेरी माँ ! मंशादेवी मेरी माँ ! कामाख्यादेवी मेरी माँ ! त्रिपुरसुन्दरी मेरी माँ ! गलती मेरी करो क्षमा !!
ॐ सर्वेभ्यो मातरेभ्यो नमः !
ॐ सर्वेभ्यो पितरेभ्यो नमः !
ॐ सर्वेभ्यो देवेभ्यो नमः !
ॐ सर्वेभ्यो गुरवेभ्यो नमः !
ॐ सर्वेभ्यो ऋषेभ्यो: नमः !
ॐ श्री नृसिंहाय नमः !
ॐ श्री काल भैरवाय नमः !
ॐ श्री दत्तात्रेयाय नमः !
ॐ श्री शिव समर्थ रामदासाय गुरवे नमः !
ॐ श्री ज्ञानेश्वराय नमः !
ॐ नमः शिवाय
ॐ अर्धनारीश्वराय नमः !
ॐ ओंकारेश्वराय नमः ! ॐ ममलेश्वराय नमः !! ॐ श्री उद्धारेश्वराय नमः !!!
ॐ वंदे कृष्णम जगद्गुरुम !
ॐ श्री तक्षकाय नमः !
ॐ श्री नागराजाय नमः !
ॐ श्री शेषनागाय नमः !
ॐ श्री गंगायै नमः !
ॐ श्री रुद्राय नमः !
ॐ श्री कार्तिकेयाय नमः !
ॐ नमो भगवते बुद्धाय ! ॐ नमो भगवते वासुदेवाय !! ॐ श्री देवरहा बाबा गुरवे नमः !! ॐ श्री बाबा बालकनाथाय नमः !! ॐ नमो भगवते वेंकटेश्वराय !!

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s