वास्तु अनुरूप अंडर ग्राउंड वाटर स्टोरेज टैंक(भूमिगत वाटर टैंक)—-

वास्तु अनुसार कहाँ करें भूमिगत जल भंडारण—
(वास्तु अनुरूप अंडर ग्राउंड वाटर स्टोरेज टैंक )—–

वास्तु अनुरूप अंडर ग्राउंड वाटर स्टोरेज टैंक(भूमिगत वाटर टैंक)—–

भूखंड के उत्तर-पूर्वी कोने में होना चाहिए , लेकिन उसे उत्तर या पूर्व की सीमा की दीवार को नहीं छूना चाहिए अथवा थोडा दूर रखना चाहिए | भूमिगत वाटर टैंक कभी भी दक्षिण – पूर्व ( अग्नि कोण ) के कोने में नहीं बनाना चाहिए , ये बहुत ही अशुभ होता है इसके बहुत घातक परिणाम होते हैं | भूमिगत वाटर टैंक हमेशा उत्तर – पूर्व के कोने या उत्तर दिशा में ही बनाना चाहिए | विशेष अपरिहार्य परिस्थितियों में भूमि के ऊपर पानी की टंकी को दक्षिण – पश्चिम और उत्तर – पश्चिम के क्षेत्रों में रखा जा सकता है |

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s