जानिए वास्तु में झाड़ू का महत्त्व—

जानिए वास्तु में झाड़ू का महत्त्व—

झाड़ू के मान-सम्मान से घटती-बढती हैं घर की आमदनी..वास्तु की मान्यता है कि घर के कचरे में कई प्रकार की नकारात्मक शक्तियां विद्यमान होती हैं जो घर और वहां रहने वाले सभी सदस्यों पर बुरा प्रभाव डालती हैं। इसके साथ ही परिवार की सुख-शांति में भी परेशानियां उत्पन्न हो जाती हैं। इनसे निजात पाने के लिए घर को एकदम साफ और स्वच्छ रखने के लिए झाड़ू का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। शास्त्रों में झाड़ू को देवी लक्ष्मी का रूप माना है अत: इसका किसी भी प्रकार से अनादर नहीं होना चाहिए।
——यदि घर में झाड़ू सबके सामने रखा जाता है तो कई बार अन्य लोगों के पैर उस पर लगते हैं जो कि अशुभ है। इससे घर पर बुरी शक्तियों का प्रभाव बढ़ता है और धन संबंधी परेशानियां भी बढ़ती हैं। इसी वजह से झाड़ू को एक तरफ छुपाकर रखना चाहिए, जहां किसी की नजर ना पहुंच सके। झाड़ू को दरवाजे के पीछे रखना काफी शुभ माना गया है। देवी लक्ष्मी का पूरा सम्मान करने पर ही वे हमारे घर पर कृपा बनाए रखेंगी।
——शास्त्रों के अनुसार धन से जुड़ी सभी समस्याओं को दूर करने के लिए धन की देवी महालक्ष्मी की आराधना श्रेष्ठ उपाय है। इसके साथ ही सभी के घर में साफ-सफाई के लिए झाड़ू अवश्य ही होती है। झाड़ू को महालक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है जो गंदगी और धूल मिट्टी में निवास करने वाली दरिद्रता को रोज हमारे घर से बाहर करती है।
——-घर की साफ-सफाई सभी करते हैं और इस काम के लिए घरों में झाड़ू अवश्य ही रहती है। शास्त्रों के अनुसार झाड़ू के संबंध कई महत्वपूर्ण बातें दी गई हैं।झाड़ू को लक्ष्मी का रूप माना जाता है, जब यह घर की गंदगी, धूल-मिट्टी साफ करती है तो इसका मतलब यही है कि देवी महालक्ष्मी हमारे घर से दरिद्रता को बाहर निकाल देती है।घर में कई वस्तुएं होती हैं कुछ बहुत सामान्य रहती है। इनकी ओर किसी का ध्यान नहीं जाता। ऐसी चीजों में से एक है झाड़ू। जब भी साफ-सफाई करना हो तभी झाड़ू का काम होता है। अन्यथा इसकी ओर कोई ध्यान नहीं देता। घर यदि साफ और स्वच्छ रहेगा तो हमारे जीवन में धन संबंधी कई परेशानियां स्वत: ही दूर हो जाती हैं।जब घर में झाड़ू का इस्तेमाल न हो, तब उसे नजरों के सामने से हटाकर रखना चाहिए।
——जब घर में झाड़ू का कार्य न हो तब उसे ऐसे स्थान पर रखा जाता है जहां किसी की नजर न पड़े। वास्तु के अनुसार भी ऐसी मान्यता है कि यदि झाड़ू बाहर दिखाई देती है तो घर में कलह होता है। साथ ही माना जाता है कि झाड़ू का पैर लगने से उसका अपमान होता है। इसीलिए झाड़ू को हमेशा छुपाकर रखना चाहिए जहां किसी की नजर एकदम ना पड़े क्योंकि मान्यता है कि इससे घर की बरकत जाती है।
——-झाड़ू वैसे तो एक सामान्य सी चीज है लेकिन परिवार की आर्थिक स्थिति मजबूत करने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। प्राचीन परंपराओं को मानने वाले लोग आज भी झाड़ू पर पैर लगने के बाद उसे प्रणाम करते हैं क्योंकि झाड़ू को लक्ष्मी का रूप माना जाता है।
——-विद्वानों के अनुसार झाड़ू पर पैर लगने से महालक्ष्मी का अनादर होता है। झाड़ू घर का कचरा बाहर करती है और कचरे को दरिद्रता का प्रतीक माना जाता है। जिस घर में पूरी साफ-सफाई रहती है वहां धन, संपत्ति और सुख-शांति रहती है। इसके विपरित जहां गंदगी रहती है वहां दरिद्रता का वास होता है। ऐसे घरों में रहने वाले सभी सदस्यों को कई प्रकार की आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसी कारण घर को पूरी तरह साफ रखने पर जोर दिया जाता है ताकि घर की दरिद्रता दूर हो सके और महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त हो सके।
——-घर से दरिद्रता रूपी कचरे को दूर करके झाड़ू यानि महालक्ष्मी हमें धन-धान्य, सुख-संपत्ति प्रदान करती है। जब घर में झाड़ू का कार्य न हो तब उसे ऐसे स्थान पर रखा जाता है जहां किसी की नजर न पड़े। इसके अलावा झाड़ू को अलग रखने से उस पर किसी का पैर नहीं लगेगा जिससे देवी महालक्ष्मी का निरादर नहीं होगा।
——-यदि भुलवश झाड़ू को पैर लग जाए तो महालक्ष्मी से क्षमा की प्रार्थना कर लेना चाहिए।जब घर में झाड़ू का इस्तेमाल न हो, तब उसे नजरों के सामने से हटाकर रखना चाहिए।ऐसे ही झाड़ू के कुछ सतर्कता के नुस्खे अपनाये गये उनमें से आप सब के समक्ष है जैसे :-
– —-झाड़ू को कभी भी खड़ा नहीं रखना चाहिए।
—– ध्यान रहे झाड़ू पर जाने-अनजाने पैर नहीं लगने चाहिए, इससे महालक्ष्मी का अपमान होता है।
– —-झाड़ू हमेशा साफ रखें ,गिला न छोडे ।
– —–ज्यादा पुरानी झाड़ू को घर में न रखें।
—– झाड़ू को कभी घर के बाहर बिखरकर न फहके ,जलाना नहीं चाहिए।
—– शनिवार को पुरानी झाड़ू बदल देना चाहिए।
—– सपने मे झाड़ू देखने का मतलब है नुकसान
—— घर के मुख्य दरवाजा के पीछे एक छोटी झाड़ू टांगकर रखना चाहिए। इससे घर में लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।
—-पूजा घर के ईशान कोण यानी उत्तर-पूर्वी कोने में झाडू व कूड़ेदान आदि नहीं रखना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से घर में नकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है और घर में बरकत नहीं रहती है इसलिए वास्तु के अनुसार अगर संभव हो तो पूजा घर को साफ करने के लिए एक अलग से साफ कपड़े को रखें।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s