केसे पायें लक्ष्मी पूजन से स्थायी धन/लक्ष्मी की कृपा..???? (दीवाली की रात में करें..उपाय /टोटके)

केसे पायें लक्ष्मी पूजन से स्थायी धन/लक्ष्मी की कृपा..????
(दीवाली की रात में करें..उपाय /टोटके)

दीपावली की हार्दिक बधाई। श्री लक्ष्मी जी संसार केन्द्र समस्त
भौतिक दुःखों की स्वामिनी, धन सम्पदा की देवी और वैभव, सम्मान
की अधिष्ठात्री हैं। उनकी कृपा हो जाये तो व्यक्ति संसार को वशीभूत
कर सकता है। महालक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए दीपावली के शुभ
मुर्हूत में कुछ टोटके ऐसे हैः जिन्हे करने से धन की प्राप्ति अवश्य
होती है।
1. दीपावली के दिन प्रात गन्ने की जड़ को नमस्कार करके घर
ले जायें। फिर रात्रि लक्ष्मी पूजन के साथ इसका भी पूजन करें।
इससे धन सम्पत्ति में वृद्धि होगी।
2. दीपावली के दि माँ लक्ष्मी के पूजन के समय इत्र की शीशी
माँ लक्ष्मी पर चढ़ायें उसमें से एक फुलेल लेकर उन्हें अर्पित करें ।
फिर पूजन के बाद पुजार के रुप में उसी फुलेल को स्वयं लगा लें।
इसके बाद नित्य रोज इत्र लगाकर रोजगार घर जाये रोजगार के
क्षेत्र में वृद्धि होगी।
3. दीपावली के दिन रात्रि में कच्चा सूत ले आये शुद्ध केसर से
रंग कर कार्यस्थल पर रखने से उन्नति होती है।
4. दीपावली के दिन अपने पूर्वजों की याद में लोगों को खाना
खिलाने से घर में सुख शान्ति बनी रहती है।
5. जो कोई दीपावली के दिन तुलसी का पूजन करता है उसे
कभी धनभाव का सामना नहीं करना पड़ता है।
6. दीपावली की संध्या हाथ में एक सुपारी एवं ताँवे का सिक्का
लेकर पीपल के पेड़ के नीचे रख आयंे। शनिवार के दिन उसी पेड़
का पत्ता गद्दी के नीचे रखने से ग्राहक सदैव अनुकूल रहता है।
7. दीपावली के दिन दोपहर के समय हल्दी की गाठों को पीले
कपड़े में रख कर ”ऊँ वक्रतुण्डाय ऊँ“ का 108 बार जाप कर तिजौरी
में स्थापित करें। इससे व्यापार वृद्धि होती है।
8. दीपावली के दिन अर्ध रात्रि में काले उड़द के 108 दानों को
”ऊँ नमः भैरवायः मन्त्र से अभिमन्त्रित करने से शत्रु भय समाप्त होता
है।
9. दीपावली के दिन अपने मुख्य द्वार पर सरसों का तेल का
दीपाक जलायें। फिर उसमें काली गुंजा के दो-चार दाने डाले दें
इससे घर में सुख शान्ति आती है।
10. श्यामा तुलसी के चारों ओर उगने वाली घास को पीले कपड़े
में बाँधकर दीपावली के दिन अपने कार्यस्थल पर रखने से उन्नति
होती है।
11. एक चैकी पर वस्त्र बिछाकर उस पर पारद लक्ष्मी जी
स्थापित करें। फिर 7 कौडि़याँ को लक्ष्मी जी के ऊपर से उतारते
हुये उनके निम्र मन्त्र का जाप करें।
फिर यह कौडि़या अपनी तिजोरी में स्थापित करें।

12. दीपावली को रात में पूजन के पश्चात् गोमती चक्र तिजोरी
में स्थापित करने से वर्ष भर समृद्धि व खुशहाली बनी रहती है।
13. घर में धन वृद्धि के लिए श्रद्धा व विश्वास के साथ नरक
चतुर्दशी के दिन लालचन्दन लाल गुलाब के पांच फूल और रोली
लाल कपड़े में बाँधकर पूजा करें, उसके पश्चात् अपनी तिजोरी में
रखें। इस दिन ऐसा करने से घर में धन रूकने लगता है।
14. नौकरी की इच्छा रखने वाले जातक को दीपावली की शाम
चने की दाल लक्ष्मी पर छिडक देनी चाहिए। दाल को महालक्ष्मी
के पूजन के बाद एकत्रित कर पीपल में विसर्जित कर दें।
15. धन तेरस के दिन हल्दी और चावल पीसकर उसके घोल
से घर के प्रवेश द्वार पर ऊँ बना दें।
16. दीपावली को लक्ष्मी पूजन के बाद घर के सभी कमरों में
शंख और डमरू बजाना चाहिए। इससे दरिद्रता घर से बाहर जाती
है, लक्ष्मी घर में आती हैं।
17. दीपावली की रात्रि में थोड़ी साबुत फिटकरी लेकर उसे
दुकान में घुमायें, फिर किसी भी चैराहे पर जाकर उसको उत्तर
दिशा की तरफ फेंक दें, दुकान में ग्राहकी बढेगी तथा धन लाभ में
वृद्धि होगी।
18. छोटी दीपावली की सुबह गजराज को गन्ने या कुछ मीठी
वस्तु अपने हाथ से खिलाये तो आर्थिक लाभ होगा।
19. छोटी दीपावली को प्रातःकाल स्थान करने के बाद सबसे
पहले लक्ष्मी विष्णु की प्रतिमा अथवा फोटो को कमलगटट्े की
माला और पीले पुष्प अर्पित करें, धन लाभ होगा।
20. दीपावली के पूजन से पहले आप किसी भी गरीब सुहागिन
स्त्री को अपनी पत्नी के द्वारा सुहाग सामग्री अवश्य दिलवायें,
साम्रगी में इत्र अवश्य होना चाहिए।
21. दीपावली की रात्रि में कुबेर यंत्र को पंचामृत से स्नान
कराकर रोली कुमकुम, केशर, लाल चंदन के साथ घिसकर तिलक
करें। शुद्ध घी के इक्कीस दीपक जलाकर रूद्वाक्ष की माला से
22.निम्न मंत्र का जाप करें तो धन लाभ अवश्य होगा–
“ॐ महालक्ष्म्ये च विद्महे विष्णु पत्न्ये च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात”
दीपावली की रात्रि अभिमंत्रित सम्पूर्ण महालक्ष्मी यंत्र को
पंच गव्य से शुद्धकर नागकेशर अर्पित करें व मूंगे की माला से
निम्न मंत्र का 21 माला जाप करें। इस उपाय से आपके व्यवसाय
में गति आयेगी।
23. यह लक्ष्मी गायत्री मंत्र है। यह सम्पति कारक तो है ही,
व्यापार में भी विशेष रूप से वृद्धि करता है। इस मंत्र का जाप
स्फिटिक की माला से करें।
24. एक नवीन पीले वस्त्र में नागकेसर, हल्दी, सुपारी, एक
सिक्का, तांबे का टुकड़ा या सिक्का, चावल रखकर पोटली बना
लें। इस पोटली को शिवजी के सम्मुख रखकर, धूप दीप से पूजन
करके सिद्ध कर लें, फिर तिजौरी में कहीं भी रख दें।
25.नारियल को चमकीले लाल वस्त्र में लपेटकर घर में
रखने से धन की वृद्धि होती है। व्यापार पर रखने से व्यापार में वृद्धि
होती है। जिस घर में एकांक्षी नारियल होता है, वहाँ स्वयं लक्ष्मी
वास करती हैं। रोग, शोक, दुःख, कष्ट, विपत्ति, दारिद्रय नष्ट होता
है एंव मान-सम्मान, प्रतिष्ठा, यश प्राप्त होता है। व्यापार दिनो दिन
बढता है।
26. रात्रि 10 बजे के पश्चात् सब कार्यों से निवृत्त होकर, उत्तर
दिशा की और मुख करके पीले आसन पर बैठ जाएं अपने सामने
नौ तेल के दीपक जला लें। यह दीपक साधनाकाल तक जलते
रहने चाहिएं। दीपक के सामने एक लाल चावल की ढेरी बनाएं,
उस पर श्री यंत्र रखें। उनका भी कुंकुम, धूप, दीप से पूजन करें
और उसके पश्चात् सामने किसी प्लेट पर स्वास्तिक बनाकर पूजन करें।
27..रात्रि 10 बजे के पश्चात्, अपने सामने चैकी पर एक पानी
से भरा हुआ कलश रखें, उसमें शुद्ध केसर से स्वास्तिक का चिन्ह
बनाकर उसमें पानी भर दें, उसके पश्चात् चावल, भरके रख दें,
उसके ऊपर श्री यंत्र स्थापित कर दें, कुंकुम अक्षत से पूजन करें
और धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष प्राप्ति के लिए कामना करें।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s