आज की पूजा पति को बनाएगी दीर्घायु..करवा चोथ पूजा ज्योतिष अनुसार कीजिये…

आज की पूजा पति को बनाएगी दीर्घायु..करवा चोथ पूजा ज्योतिष अनुसार कीजिये…
———————————————–
-करवाचौथ (15 -10 -2011 )के चंद्र दर्शन रात 8.17 बजे
-सायं 7.38 तक भद्रा में शुभ कार्य वर्जित
-उच्च का चंद्र और स्वराशि तारीख स्वामी दे रहा प्रसन्नता व सौभाग्य
पापी है या बलम हरजाई। सजन परदेस में है या सनम स्टील के थाल में
अपनी ही परछाई। शनिवार को करवा चौथ का चांद जब गली-गली में निकलेगा
तो सुहागिनें बिना पानी पिए व्रत रखकर एक परीक्षा
पास कर चुकी होंगी। रात आठ बजकर सत्रह मिनट पर निकलने वाले चांद को देखकर
उपवास खोलने वाली महिलाओं के लिए तो यह अपने देवदास की दीर्घायु के लिए
मनौती मांगने का मौका ही होगा।
कार्तिक सुदी करवा चौथ पर्व शनिवार को सुहागिन महिलाएं मनाएंगी। सुबह
सूर्योदय से पहले अन्न-जल त्याग के साथ शुरू होने वाला उनका कठोर तप
रात्रि आठ बजकर सत्रह मिनट पर चंद्र दर्शन के साथ ही टूट सकेगा। इससे
पहले सायं 7.38 तक भद्रा रहेगी, लिहाजा इस दौरान तक शुभ कार्य वर्जित
रहेंगे, लेकिन चंद्र दर्शन के समय न केवल शुद्ध मुहूर्त रहेगा, बल्कि इस
बार करवाचौथ पर चंद्र पूजन के समय चंद्रमा भी अपनी उच्च राशि पर गोचर कर
रहा होगा।
इस बार करवाचौथ पर एक और विशेष मुहूर्त बन रहा है। करवाचौथ पंद्रह
अक्टूबर को है और अंक ज्योतिष के अनुसार पंद्रह तारीख का मूलांक छह है,
जिसका स्वामी शुक्र ग्र्रह माना जाता है। शुक्र इन दिनों अपनी स्वराशि
तुला में गोचर कर रहा है। मेरा कहना है कि व्रत के साथ ज्योतिषी पुट
भी दे दिया जाए तो पूरा साल सुखमय बन सकता है। बस इतना सा आजमाकर देख लो और फिर कहना कि आपने क्या कमाल कर दिया। मेष व वृश्चिक राशि की जातक
महिलाएं इस दिन सूर्य आदित्य ह्रïदय स्त्रोत का पाठ करें और अपने लिबास
में नारंगी रंग को प्राथमिकता दें तो करवा चौथ उनके लिए विशेष फलदायी
रहेगी।
वृष एवं तुला राशि की महिलाएं अपने श्रंगार में हीरा, अमेरिकन डायमंड या
जर्किन का प्रयोग करें और कलात्मक आफ व्हाइट साड़ी पहनें तो उनके परिवार
में समृद्धि बढ़ेगी। इसी प्रकार मिथुन व कन्या राशि की महिलाओं को हरे
रंग का लिबास, हरी चूडिय़ां व आर्टिफिशल ज्वैलरी में हरे नगीनों का प्रयोग
करना चाहिए। व्रत खोलने से पहले गाय को चारा दें। कर्क राशि वाली सुहागिनों को राशि
स्वामी चंद्रमा की प्रसन्नता के लिए चंद्र के आराध्य भगवान शंकर की
उपासना इस दिन करनी चाहिए। सिंह राशि की सुहागिनों को सोने के आभूषण गणेश
पूजन, कथा व चंद्र पूजन के समय धारण करने चाहिए। इससे उनका सौभाग्य
बढ़ेगा। धनु एवं मीन राशि की
महिलाओं को स्वामी ग्र्रह गुरु की प्रसन्नता के लिए गाय पूजन व्रत करने
से पहले करना चाहिए। मकर एवं कुंभ राशि की महिलाएं विवाह में सात फेरे के
समय पहने गए लिबास को पहनकर चंद्र पूजन करेंगी तो परिवार में सुख-शांति
के अलावा समृद्धि बनी रहेगी।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s