आप को शारदीय नवरात्रि (2011 )के पर्व की हार्दिक शुभकामनायें…..

Happy Shardiy Navratri —2011
DEAR FRIENDS I WISHING YOU ALL A HAPPY NAVARATHRI FESTIVAL —2011
आप को शारदीय नवरात्रि (2011 )के पर्व की हार्दिक शुभकामनायें……
जय अम्बे गौरी, जय माता दी …नवरात्रि यानी सौन्दर्य के मुखरित होने का पर्व।
नवरात्रि यानी उमंग से खिल-खिल जाने का पर्व। कहते हैं, नौ दिनों तक दैवीय शक्ति मनुष्य लोक के भ्रमण के लिए आती है। इन दिनों की गई उपासना-आराधना से देवी भक्तों पर प्रसन्न होती है…
या देवी सर्वभूतेषु बुद्धिरूपेणसंस्थिता।
नमस्तस्यैनमस्तस्यैनमस्तस्यैनमोनम:।।
ॐ जयंती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी, दुर्गा क्षमा शिव धात्री स्वाहा श्रद्धा नमोस्तुते
ॐ सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके शरण्ये त्रयम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुते !
———————————————————————
आज शारदीय नवरात्रि का प्रथम दिवस है , आज माँ शैलपुत्री से विश्व के अशुभ तथा भय का विनाश करने के लिये प्रार्थना करें !

यस्या: प्रभावमतुलं भगवाननन्तो
ब्रह्मा हरश्च न हि वक्तु मलं बलं च।
सा चण्डिकाखिलजगत्परिपालनाय
नाशाय चाशुभभयस्य मतिं करोतु॥

जिनके अनुपम प्रभाव और बल का वर्णन करने में भगवान् शेषनाग, ब्रह्माजी तथा महादेवजी भी समर्थ नहीं हैं, वे भगवती चण्डिका सम्पूर्ण जगत् का पालन एवं अशुभ भय का नाश करने का विचार करें।..
————————————————————————————————-
निशुम्भशुम्भमर्दिनीँ प्रचण्डमुण्डखण्डिनीँ
वने रणे प्रकाशिनीँ
भजामी विन्ध्यवासिनीम् ।

त्रिशूलमुण्डधारिणीँ धराविघातहारिणीँ
गृहे गृहे निवासिनीँ
भजामी विन्ध्यवासिनीम् ॥

दरिद्रदु:खहारिणी
सदा विभूतिकारिणीँ वियोगशोकहारिणीँ
भजामी विन्ध्यवासिनीम् ।

लसत्सुलोललोचनं लतासदम्बरप्रदां कपालशूलधारिणीँ
भजामी विन्ध्यवासिनीम् ॥

कराब्जदानदाधरां
शिवाशिवां प्रदायिनीँ
वरावराननां शुभां
भजामी विन्ध्यवासिनीम् ।

रिषीन्द्रजामिनीप्रदं
त्रिधा स्वरूपधारिणीँ
जले थले निवासिनीँ
भजामी विन्ध्यवासिनीम् ॥

विशिष्टसृष्टि कारिणीँ विशालरुपधारिणीँ
महोदरे विशालिनीँ
भजामी विन्ध्यवासिनीम् ।

पुरन्दरादिसेवितां मुरादिवंशखंडिनीँ विशुद्धबुद्धिकारिणीँ
भजामी विन्ध्यवासिनीम् ॥
—————————————————————–

” This Navratri may the nine forms of divine mother bless you,
Ma Saraswati – with knowledge and art.
Ma Kali – with protection.
Ma Lakshmi – with wealth.
Maa ShailPutri – with determination.
Maa Brahmacharini – with divine grace.
Masa Chandraghanta – with beauty and bravery.
Skand Mata – with bravery of a warrior.
Maa Katyani – annihilates your diseases, fear and agonies.
Maa Kaalratri – protects you from bad spirits.
Annapurna Mata – always fill our homes with good food.
Maha Gauri Mata – bless you with calmness and wisdom.
Maa Siddhidaatri – with Siddhis.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s